एलएलएम (LLM) क्या है कैसे करे पूरी जानकारी

आज हमारे देश में सबसे जायदा कानून की जरुरत पढ़ती है बिना कानून के ये देश नहीं चल सकता है लेकिन कई बार एशा होता है की कई लोग कानून के खिलाफ काम करने लगते है उस समय कानून का हेल्प लेते है और उस प्रॉब्लम को सोल्व करने के लिए वकीलों की जरुरत पढ़ती क्यूंकि कोर्ट में बताना पढता है क्या सही है और क्या गलत है तो इसके लिए वकील का शहारा लेते है तो आज की इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा की कैसे आप मास्टर ऑफ़ लॉ का पढ़ाई कर सकते है एलएलएम क्या है (What is LLM information in hindi), एलएलएम कैसे करे पूरी जानकारी (How To Do LLM Full Details In Hindi) पूरी जानकारी देंगे।

आज हमारे देश में LLM कोर्स बहुत जाएदा पॉपुलर है क्यूंकि इससे हमलोग लॉ में मास्टर बन सकते है और वकीलों का हमारे देश में बहुत जायदा सम्मान करते है लेकिन आज के समय में हर साल बहुत सारे वकालत (advocate) की पढाई करते है और उसमे कुछ ही लोग एक सक्सेस्फुल वकील बन पाते है इस लिए आपको ये जानना जरुरी है की LLM कोर्स क्या होता है कैसे पढाई करे और इसमें कौन कौन सब्जेक्ट पढ़ सकते है एलएलएम करने के लिए योगयता क्या चाहिए पूरी जानकारी देने वाले है.

llm kya hai kaise kare

Query Solve
एलएलएम कोर्स क्या है (What is LLM Course information in hindi)
एलएलएम कोर्स कहाँ से और कैसे करे
एलएलएम कोर्स कितने साल का होता है
एलएलएम कोर्स में क्या क्या पढ़ाया जाता है
एलएलएम की पढाई के लिए क्या योगयता होनी चाहिए
एलएलएम कब कर सकते है

एलएलएम क्या है (What is LLM Information in Hindi)

अब बात करते हैं की एलएलएम का फुल फॉर्म क्या होता है तो LLM का Full Form (Master of Laws) मास्टर ऑफ़ लॉस है हिंदी में कहे तो कानून में मास्टर हासिल करना।

यह कानून की पढ़ाई की सबसे सर्वश्रेष्ठ डिग्री में से एक मानी जाती है। यह कोर्स पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स होता है और इस कोर्स में rule और regulation से संबंधित शिक्षा दी जाती है। एलएलबी का कोर्स करने के उपरांत आप तहसील से लेकर डिस्टिक लेवल हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट के वकील बनने तक का अपना कैरियर बना सकते हैं।

आप में से अधिकतर को LLB कोर्स के बारे में पता होगा जो कि कानून से संबंधित कोर्स है। जैसे:- हम  बैचलर डिग्री के बाद मास्टर डिग्री का कोर्स करते हैं, वैसे ही LLB कोर्स करने के बाद हम कानून के क्षेत्र में LLM का कोर्स करते हैं जो कि उसी क्षेत्र में मास्टर डिग्री प्राप्त करने का अवसर देता है। यह कोर्स 2 साल का होता है, इसमें कानून विभाग से जुड़ी जानकारियां दी जाती है। इसीलिए यह कोर्स LLB कोर्स से भी सर्वश्रेष्ठ Course माना जाता है।

L.L.M. कानून की डिग्री एक छात्र को वकील में मास्टर बनने या कानूनी विभाग में काम करने के लिए योग्य बनाती है। मास्टर ऑफ लॉ 2 साल का कोर्स है और इसे 4 सेमेस्टर में बाटा गया है और LLM में पढाई बहुत जायदा प्रैक्टिकल करके सिखाया जाता है ये कोर्स करने में बहुत अच्छा लगता है क्यूंकि एक दूसरे वकीलों के साथ लड़ाई होती है तो ये सारे थ्रोरी और प्रैक्टिकल दोनों में पढाई कराया जाता है जो आपको निचे डिटेल्स में बताएंगे।

एलएलएम कोर्स करने के योगयता (Qualification For LLM Course)

अगर आप LLM की पढाई करना चाहते हो तो आपके पास कम से कम निचे बताये हुए चीजों में आपके पास होना चाहिए अगर है तो आप एलएलएम की पढाई कर सकते है. यानी की एलएलएम कोर्स करने के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यता होना अनिवार्य है:-

  • सबसे पहले आपका 12वीं पास होना अनिवार्य है।
  • इसके उपरांत आप ग्रेजुएशन करने के बाद 3 साल का एलएलबी का कोर्स करना होगा।
  • अगर आप ग्रेजुएशन नहीं करना चाहते हैं तो आप 12th के बाद तुरंत एलएलबी का कोर्स कर सकते हैं जो कि 5 साल का होता है।
  • एलएलबी में आपको कम से कम 50% मार्क्स से उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।

इसे करने के बाद आप एल.एल.एम कॉलेज जो भी आपके आसपास में हो उसमें एंट्रेंस एग्जाम पास कर के किसी भी कॉलेज में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं। अधिकतर Entrance Exam सरकारी कॉलेजों में प्रवेश प्राप्त करने के लिए, लिए जाते हैं। प्राइवेट कॉलेज में आपको मार्क्स के basis पर ही दाखिला हो जाता है।

Most Read: LLB Kaise Kare

एलएलएम (LLM COURSE) कैसे करे पूरी जानकारी

दोस्तों LLM कानून के क्षेत्र में विशिष्ट व सर्वश्रेष्ठ कोर्स में से एक है, इसे आप निम्नलिखित योग्यताएं प्राप्त करके कर सकते हैं।

 1  12वीं कक्षा पास करें

दोस्तों सबसे पहले आपको 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करना होगा यानी पास करना होगा जो आप किसी भी विषय को लेकर उत्तीर्ण कर सकते हैं। और कोसिस करे की आपका 12th क्लास में अच्छा मार्क्स आ जाये ताकि आगे की पढाई के लिए अच्छा रहे तो आप पूरी मेहनत से 12th क्लास पास करे।

 2  एलएलबी (LLB) पास करे LLM कोर्स के लिए

12वीं करने के बाद आपको ग्रेजुएशन में एडमिशन लेना होगा और ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। जो कि 3 साल का कोर्स होता है। ग्रेजुएशन पूरा करने के उपरांत आपको एलएलबी का कोर्स करना होता है जो कि 3 साल का होता है। अगर आप ग्रेजुएशन नहीं करना चाहते हैं तो आप 12वीं के बाद direct एलएलबी ऑनर्स का कोर्स कर सकते हैं जो कि 5 साल का होता है। इसे करने में आपका 1 साल का बचत भी होती है।

 3  एलएलएम कॉलेज के लिए इंट्रेंस एग्जाम दे और क्लियर करे

अब आपको LLB कोर्स पूरा करने के बाद एंट्रेंस एग्जाम देना है LLM कोर्स करने के लिए और इस एग्जाम को देने के बाद आप एलएलएम कॉलेज में एडमिशन ले सकते हो जो पुरे 2 साल का होता है जैसे ही आप एंट्रेंस एग्जाम देते है इसके बाद आपको क्लियर करना होता है जैसे ही आपका एंट्रेंस एग्जाम क्लियर हो जाता है इसके बाद आपके एंट्रेंस के मार्क्स के अनुशार आपको एलएलएम यूनिवर्सिटी दिया जाता है तो आपको LLM में एडमिशन लेना होगा तो आप एडमिशन ले.

 4  एलएलएम (LLM) की पढाई पूरी करे 

जैसे ही आप किसी कॉलेज में एडमिशन लेते हैं, उसके बाद आपको 2 साल का LLM की पढ़ाई करनी होती है। पढ़ाई करते वक्त आपको 4 सेमेस्टर का एग्जाम देना होता है। उसके बाद आपको LLM की डिग्री प्राप्त हो जाती है। जो कि कानून के क्षेत्र में एक सर्वश्रेष्ठ डिग्री मानी जाती है।

तो बस आप पूरी लगन और धेयान से पढाई करना है और फिर आपको अच्छे Marks से पास करना है लेकिन एक बाद याद रहे आपको पूरी दिल से पढाई करना है एडमिशन लेने के बाद तभी आप एक अच्छे वकील बन सकते है और तभी आपको अच्छे सैलरी मिलेगी खेर आप अपना एलएलएम की पढाई इस तरह से पूरी कर सकते है.

Best Colleges For LLM Course

जब भी हम कोई भी कोर्स करना चाहते हैं तो सबसे पहले हम कॉलेज की तलाश करते हैं कि किस कॉलेज में हम यह कोर्स कर सकते हैं तो आज मैं आपको LLM के कुछ best collages के बारे में बताने जा रहा हूं जिस की सूची कुछ इस प्रकार है:-

  • National Law School Of India University, Bangalore 
  • National Law University, New Delhi
  • Chandigarh University, Chandigarh 
  • Nalsar University Of Law, Hyderabad 
  • Indian Institute Of Technology, Kharagpur
  • The West Bengal National University Of Juridical Sciences, Kolkata
  • National Law University, Jodhpur
  • Symbiosis Law School, Pune
  • Rajiv Gandhi National University Of Law, Patiala
  • National Law Institute University, Bhopal

एलएलएम कोर्स की फीस क्या है

जो भी छात्र मास्टर ऑफ लॉ का कोर्स करना चाहते हैं, उनके मन में सबसे पहला प्रश्न यही होता है कि इस कोर्स की Fee क्या होगी तो में आपको बता दें कि हर एक कॉलेज में फीस अलग – अलग हो सकती है। सरकारी कॉलेज में इसकी फीस कम होती है, किंतु प्राइवेट कॉलेज में फीस कुछ ज्यादा होती है। फिर भी एक अनुमान के अनुसार इस कोर्स की average फीस लगभग 2 लाख प्रतिवर्ष हो सकती है।

Most Read: 12th Biology के बाद क्या करे 

एलएलएम करने के फायदे (LLB Course Benefits)

एलएलएम कोर्स करने के बाद तो बहुत सारे फायदे है पर में आपको कुछ फायदे बताना चाहता हूँ जिससे आपको एक अंदाज़ा लग सके और आपको LLM कोर्स करने में मज़ा भी आये दराशल कोई कोर्स ख़राब नहीं होता है बस आपको मेहनत और लगन से पढाई करना होता है तो चलो अब जानते है की एलएलएम कोर्स (Advantage of LLM Course in hindi) के फायदे.

  • एलएलबी कोर्स (LLB Course) करने के बाद आप अच्छे जानकार और लॉ में एक्सपर्ट हो जाते है
  • एलएलबी करने के बाद आप एक पोस्ट ग्रेजुएट कहलाते है
  • कानून के मास्टर एक कैंडिडेट को कानून के एक विशेष क्षेत्र में अनुसंधान के माध्यम से विशेष ज्ञान लेने में सक्षम बनाती है।
  • ये एक वकालत पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री है जिसे करने के बाद आपके वकालत का नॉलेज बहुत जाएदा हो जाता है
  • LLM कोर्स करने बाद आप किसी का भी केस को लड़ सकते है
  • जब आप कानून के समक्ष मास्टर डिग्री ले लेते हैं तो वह आपको कानून के विषय क्षेत्र में अनु संसाधन के माध्यम से विशेष ज्ञान लेने में सक्षम बनाती है।
  • क्षेत्र में आपको कोई भी जॉब मिलने के बाद आपकी income बहुत अच्छी रहेगी, जिससे आपको आर्थिक दृष्टि से कोई भी परेशानी नहीं होगी।
  • इसे करने के बाद आप अपने क्षेत्र में काफी सम्मान की दृष्टि से जाने जाएंगे।
  • इस कोर्स को करने के बाद आप कानून के क्षेत्र में एक विशेष कानूनी सलाहकार बन सकते हैं।

एलएलएम (LLM Subject) के सब्जेक्ट

जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया LLM  2 साल का कोर्स होता है। जो 6 Month का सेमेस्टर wise कोर्स है। इसमें कुल 6 सेमेस्टर होते हैं। जिसके उपरांत आपको अलग-अलग विषयों के बारे में अलग-अलग पाठ्यपुस्तक द्वारा पढ़ाया जाता है। हालांकि कुछ कॉलेज मामूली बदलाव अपनाते हैं, लेकिन ज्यादातर कॉलेजों में पाठ्यक्रम का मूल्य एक ही रहता है। इस कोर्स में निम्नलिखित सब्जेक्ट होते हैं जो इस प्रकार हैं:-

LLM subjects (Semester 1):-

  1. Constitutional Law -l
  2. Legal Theory -l
  3. Research Methodology 

LLM subjects (Semester 2):-

  1. Constitutional Law -ll
  2. Legal Theory -ll
  3. Law and Social Change

LLM Subjects (Semester 3):-

  1. Law Relating to industrial Relations
  2. Law Relating to Labour Welfare

LLM Subjects – (Semester 4):-

  1. Law Relating to Industrial Injuries and social securities
  2. Law Relating to service Regulation
  3. रेलवे इंजीनियर (Railway Engineer) कैसे बने

एलएलएम कोर्स के ब्रांच (Master Of Law Branch)

एलएलएम कोर्स में आप बहुत सारे सब्जेक्ट को पढ़ सकते है वो सारा डपेंड करता है आप कौनसा ब्रांच को सेलेक्ट किये है लेकिन अगर अपने ब्रांच के अनुशार सब्जेक्ट के बारे में जानना चाहते हो तो गूगल में सर्च करके जान सकते हो और में आपको निचे ब्रांच के लिस्ट दे दूंगा आपको जो अच्छा लगे किसी एक को सेलेक्ट करना.

  • फॅमिली लॉ
  • कोंस्टीटूशनल लॉ
  • इंटरनेशनल ट्रेड लॉ
  • इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी लॉ
  • टैक्सेशन लॉ

एलएलएम करने के बाद जॉब (LLM Job Types)

पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर दोनों क्षेत्रों में रोजगार के अवसर पा सकते हैं। अधिकांश वकील एक प्रोफेशन के रूप में एक वकील और अभ्यास कानून बनना पसंद करते हैं। केंद्र / राज्य सरकार की नौकरियां भी वकीलों के लिए खुली हैं। उन्हें विभिन्न न्यायालयों के न्यायाधीशों के रूप में, अटॉर्नी और सॉलिसिटर जनरल के रूप में, लोक अभियोजक के रूप में और रक्षा, और श्रम विभागों में भी नियुक्त किया जा सकता है.

और आप लोगो का भी प्रॉब्लम के लिए वकालत कर सकते इसमें भी नौकरी का अवसर पा सकते है और वैसे तो बहुत कुछ चीजों में आप जॉब कर सकते हो बस आपके पास ज्ञान होना चाहिए तो वैसे LLB करने के बाद आपके पास बहुत सारा ऑप्शन होता है कुछ भी करने के लिए लेकिन में आपको कुछ बेहतरीन जॉब के बारे में बता देता हूँ जो बहुत जायदा ही अच्छा है उसके लिए आप starting से तैयारी कर सकते है.

नोटरी (Notary)
Oath कमिश्नर (Oath Commissioner)
पब्लिक प्रासीक्यूटर (Public Prosecutor)
सॉलिसिटर्स (Solicitors)
टीचर्स (Teachers)
ट्रस्टीज (Trustees)
अटॉर्नी जनरल (Attorney General)
डिस्ट्रिक्ट एंड सेशंस जज (District and Sessions Judge)
लॉ रिपोर्टर्स (Law Reporters)
लीगल एडवाइजर (Legal Advisor’s)
मजिस्ट्रेट (Magistrate)
मुंसिफस (सुब – मजिस्ट्रेट) (Munsifs (Sub-Magistrate)

एम्प्लॉयमेंट एरिया (Employment Areas)

अगर आप एम्पोल्य (LLM Employment) बनकर जॉब करना चाहते है तो आप कर सकते है वैसे कई सारे लोगों को Employment बनने में काफी जायदा मज़ा आता है उसके लिए बहुत सारे ऑप्शन खुल जाता है जब आप मास्टर ऑफ़ लॉ कर लेते हो तो दरअशल इसमें भी काफी जायदा सैलरी मिल जाते है और इस फील्ड में रेस्पेक्ट भी बहुत जाइयेदा मिलता है तो आये जान लेते है एमपोलीमेन्ट में कहाँ जॉब कर सकते है.

  • नेव्स्पपेर्स (Newspapers)
  • जुडिशरी (Judiciary)
  • प्राइवेट प्रैक्टिस (Private Practice)
  • सेल्स टैक्स एंड एक्साइज डिपार्टमेंट्स (Sales Tax and Excise Departments)
  • बैंक्स (Banks )
  • बिज़नेस हाउसेस (Business Houses)
  • एजुकेशनल इंस्टीटूट्स (Educational Institutes)
  • लीगल कॉन्स्टांइस (Legal Constancies )
  • न्यूज़ चैनल्स (News Channels)
  • पॉलिटिशियन (Politician) कैसे बने 

Conclusion

आज के इस आर्टिकल में मैंने आपको एलएलएम से संबंधित विषयों के बारे में बताया। आज मैंने आपको बताया कि एलएलएम क्या होता है (What is LLM Course in Hindi) एलएलएम कोर्स कैसे करें पूरी जानकारी (How to do LLM Course full information in hindi) एलएलएम करने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए (Qualification, Job full deatils infrmation in hindi) LLM कोर्स करने के लिए बेस्ट कॉलेज कौन कौन से हैं इन विषयों के बारे में आपको बताया और आशा है कि आप को यह पढ़कर LLM के बारे में पूरी जानकारी मिल गई होगी।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य साझा करें और अगर आपके मन में कोई भी इससे संबंधित प्रश्न हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर कर पूछ सकते हैं।

धन्यवाद!