डीसीपी (DCP) कोर्स क्या है कैसे करें – Diploma in Clinical Pathology Course Details in Hindi

हम सब जानते है की मेडिकल फील्ड में करियर बनाना हमारे लिए सौभाग्य की बात होती है क्यूंकि Medical फील्ड में आपको बहुत ही जाएदा मेहनत से पढाई करना होता है और बहुत कम लोग इस फील्ड में जाना पसंद करते है लेकिन जो लोग जाते है वो लोग नसीब वाले होते है खेर, अगर आप भी जाना चाहते है तो में आपको बताउंगी की डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स क्या होता है (Diploma in Clinical Pathology Course Details in Hindi) डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स कैसे करें (DCP Course kaise Kare) तो ये सब के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

आज के समय में मेडिकल साइंस इतनी तरक्की कर गई है कि हम पहले ही बीमारियों के बारे में पता कर लेते हैं और उसके विषय में रिसर्च करना भी शुरू कर देते हैं और बहुत से लोग ऐसे होंगे कि इस फील्ड में जाना भी पसंद करते होंगे; क्योंकि इसमें हमें नई नई चीजें जानने को भी मिलती है और बहुत नया कुछ सीखते भी है तो आज मैं आपको कुछ वैसे ही कोर्स के बारे में बताने जा रही हूं। जिसे करके आप अपना एक बेहतर भविष्य मेडिकल साइंस के फील्ड में बना सकते हैं।

Diploma in Clinical Pathology Course Details in Hindi

दोस्तों अगर आप इस फील्ड में जाना चाहते है तो आपको बहुत ही अच्छी जानकारी मिल जायेगा ताकि आप अपने ज़िन्दगी को बेहतर बना सको और ये कोर्स करने में कोई दिकत नहीं होगा तो आज मैं आपको बताऊंगी कि डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के बाद जॉब के क्या क्या ऑप्शन है (Job Opportunity After DCP Course) डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के उपरांत सैलरी कितनी मिलती है? इन सभी चीजों की जानकारी आज के आर्टिकल में आपको देने जा रही हूं आपको यह आर्टिकल पढ़कर कुछ नया जानने को भी अवश्य मिलेगा।

डिप्लोमा इन क्लीनिकल पैथोलॉजी कोर्स क्या है (DCP Course Details in Hindi)

सबसे पहले हमलोग जानते है की Diploma in Clinical Pathology Course Details in Hindi तो इसके बारे में बहुत सी जानकारी देंगे खेर, डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने से पूर्व हमें इसके विषय में पता होना काफी आवश्यक है तो आपको मैं बता दूं कि पैथोलॉजी जिसका मतलब होता है डिजीज के बारे में स्टडी यानी कीटाणु की अच्छी तरह पढ़ाई करना साथ ही लोगों के Blood से या फिर यूरिन के हेल्प से जाँच करना की किस मरीज को कोनसी बीमारी है।

इस कोर्स को करने के बाद हम अलग-अलग तरह की disease की स्टडी करते हैं और उसके कोर्स के बारे में जानते हैं और उसे किस तरह से निपटा जा सके, यह चीज भी हम इसके अंतर्गत पड़ते हैं। यह कोर्स कुल 2 साल का होता है। जिसके अंतर्गत थ्योरी और प्रैक्टिकल दोनों चीजों की जानकारी हमें पूर्णता दी जाती है। इस कोर्स को करने के बाद आप चाहे तो विभिन्न -विभिन्न क्षेत्रों में अपना भविष्य बना सकते हैं। जैसे:- टीचर, कंसलटेंट, हेल्थ केयर वर्कर, प्रोफेसर, क्लीनिकल, पैथोलॉजी इत्यादि।

साथ ही इस कोर्स को आप 12th Science के बाद आप इस कोर्स को कर सकते है तो इस कोर्स में आपको इतना कुछ पढ़ा दिया जाता है की आप एक क्लीनिकल पैथोलोजिस्ट बन सकते है और अपनी करियर की शुरुआत कर सकते है साथ ही इस कोर्स में आपको बहुत गहराई से चीजों के बारे में पढ़ाया जाता है जो आपको एक क्लीनिकल पैथोलोजिस्ट बनने में हेल्प करता है डीसीए कंप्यूटर कोर्स क्या है कैसे करे

डीसीपी कोर्स करने के लिए योगयता (Diploma in Clinical Pathology Course Eligibility)

दोस्तों अब हम आपको ये बताने जा रहीं हूँ की Diploma in clinical pathology course karne ke kya qualification honi chahiye क्यूंकि ये जानना हमारे लिए बहुत जरुरी है जब तक आप जानेंगे नहीं तब तक आप इसके अंदर दाखिला नहीं ले सकते है इसीलिए आपको दाखिला लेने के लिए कम से कम योगयता पता होना चाहिए तो इस कोर्स को करने के लिए आपके पास निम्नलिखित योग्यताएं होना अनिवार्य है जैसे:-

  • सबसे पहले इस कोर्स को करने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से दसवीं कक्षा पास होना अनिवार्य है।
  • इसके उपरांत आप 11वीं कक्षा बायोलॉजी विषय के साथ पढ़े।
  • 12वीं कक्षा Biology सब्जेक्ट से 50% अंकों के साथ पास होना अति आवश्यक है तभी आप आगे इस कोर्स को कर सकते हैं।
  • इसके तत्पश्चात आपको ग्रेजुएशन में B.sc in biology सब्जेक्ट से ही करनी होती है।
  • ग्रेजुएशन में आपको कम से कम 50% अंकों के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है।
  • आंगनबाड़ी सेविका कैसे बने

डीसीपी कोर्स कैसे करें (Diploma in Clinical Pathology Course Kaise Kare)

दोस्तों डीसीपी कोर्स एक बहुत पॉपुलर कोर्स है और इस कोर्स को हर कोई करना चाहता है क्यूंकि इसके अंदर हमें करियर अवसर बहुत जलधि मिल जाती है खेर, अगर आप इस कोर्स को करना चाहते है तो में आपको बताउंगी की डीसीपी कोर्स कैसे करें (How to Do DCP Course in Hindi) ये तमाम चीजों के बारे में बहुत अच्छे से बताएंगे तो आये जानते है इसकी जानकारी ताकि हमें अच्छे से सब कुछ जानकारी मिल सके।

 1  सबसे पहले आपको 10th पास करना होगा

जैसे की हम सब जानते है की हमारा 10th Class हमारे लिए बहुत जरुरी होता है अगर आप अपना करियर को बेहतरीन बनाना चाहते है तो और अगर आपका 10th में ही Aim बन जाता है की हमें Medical Field में जाना है तो आपके लिए बहुत सही रहता है।

 2  अब आपको 12th Biology से Pass करना है

अब आपको 12th पास करना है वो भी अच्छे Marks के साथ वैसे आप जानते होंगे की हमारा 12th भी बहुत जरुरी class होती है क्यूंकि अगर आपका 12th का Exam सही चला जाता है तो आपको दाखिला लेने में आसानी हो जाता है और आपका पढाई भी बहुत अच्छी हो जाती है तो आप 12th पास करें और 55% Marks जरूर लाएं।

 3  अब आपको Graduation करना होगा

अगर आप डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी का कोर्स करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपका ग्रेजुएशन बायोलॉजी सब्जेक्ट के साथ करना अनिवार्य है यानी की आप BSC In Biology कर सकते है साथ ही इसमें भी आपको कम से कम 50% Marks लाना ही होगा।

Must Read: फॉरेस्ट गार्ड (Forest Guard) क्या है कैसे बने

 4  इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा

उसके उपरांत आप इस कोर्स में एडमिशन पाने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर खुद का रजिस्ट्रेशन कर लें। इसके उपरांत एप्लीकेशन फॉर्म में आपको अपने सारे डॉक्यूमेंट और जरूरी चीजों के विषय में जानकारी देना होता है और डॉक्यूमेंट अपलोड भी करने होते हैं।

जैसे:-  फोटोग्राफ, सिग्नेचर, मार्कशीट, ट्रांसफर सर्टिफिकेट इत्यादि। डॉक्यूमेंट अपलोड करने के बाद अगला स्टेप एप्लीकेशन फी पेमेंट करने का होता है। जिसमें आपके कैटेगरी वाइज आपसे फीस ली जाती है।

 5  अब आपका कट ऑफ निकलेगा और दाखिला लेना होगा

इसके उपरांत जो भी स्टूडेंट ने कट ऑफ मार्क्स क्लियर कर लिया है; उसको कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है और आप उस कॉलेज में दाखिला पा सकते हैं इसके बाद आपको बड़ी मेहनत से पढाई करना होता है इसके बाद आपका ये कोर्स पूरी हो जाती है।

Entrance Exams For DCP

दोस्तों अब बात करते है की डिप्लोमा इन क्लीनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के लिए क्या कोई एंट्रेंस एग्जाम होता है तो देखो कई सारे ऐसे college है जो अपना खुद एंट्रेंस एग्जाम लेते है तो अगर आप सोचते है की किसी भी बड़े कॉलेज में जाएँ तो उससे पहले आपको entrance exam clear करना होता है इसके बाद आपको दाखिला मिल जाता है।

साथ ही कुछ college ऐसे होते है जो आपका Marks के हिसाब से कॉलेज मिलता है यानी की सबसे पहले आपको कोई college में दाखिला के लिए apply करना होगा इसके बाद Marks के According कट ऑफ निकलता है अगर आपका Marks अच्छा होगा तो आप उस college में दाखिला ले सकते है तो इस तरीके से इसके अंदर दाखिला लेने के लिए entrance exam देना होता है।

जैसे की में आपको एक Example में बता रही हूँ मान लीजिये की आप Christian Medical College में दाखिला लेना चाहते है तो सबसे पहले आपको CMC Entrance Exam देना होगा इसके लिए आपको इसके entrance exam के लिए apply करना होगा इसके बाद आपका exam होगा अगर आप एग्जाम क्लियर कर लेते है इसके बाद आपका counselling होगा इसके बाद आपको दाखिला मिल जाता है।

Must Read: अपना कैरियर (Career) कैसे चुने

डिप्लोमा इन क्लीनिकल पैथोलॉजी कोर्स की फीस कितनी होती है

इस कोर्स की फीस आप पर निर्भर करती है कि आप किस संस्थान से इस कोर्स को कर रहे हैं अगर आप किसी सरकारी संस्थान से इस कोर्स को करते हैं तो उसकी फीस प्राइवेट की तुलना में कम लगेगी अगर इस कोर्स की औसतन फीस की बात की जाए तो इसकी फीस 10000 से ₹350000 तक हो सकती है लेकिन में आपको एक बात जरूर बताऊंगा की देखो अगर आप इस कोर्स को करना चाहते है तो किसी Government College से ही करना।

यदि आप किसी प्राइवेट कॉलेज से इस कोर्स को करते हैं तो इस कोर्स की फीस 1500000 से ₹400000 सालाना हो सकती है। इसके अतिरिक्त कुछ प्राइवेट कॉलेज ऐसे हैं, जहां इससे भी कम पैसे में इस कोर्स को आप कर सकते हैं; किंतु किसी अच्छे कॉलेज से अगर आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो उसकी fees इतनी लग सकती है और किसी अच्छे कॉलेज से करना ही इस कोर्स को फायदेमंद साबित होता है तो शायद अब आपको (DCP Salary) डिप्लोमा इन क्लीनिकल पैथोलॉजी कोर्स की फीस के बारे में पता चल गया होगा।

Syllabus of Diploma in Clinical Pathology

अगर आप डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी का कोर्स करना चाहते हैं तो आपको इसके अंतर्गत पढ़ाए जाने वाले विषयों की जानकारी होना भी अत्यंत आवश्यक है। इसीलिए आज मैं आपको सबसे पहले इसके सिलेबस से रूबरू कराने जा रही हूं; ताकि आपको यह सिलेबस पढ़कर इसके विषय में और अत्यधिक जानकारी मिल सके और इसके सब्जेक्ट की भी जानकारी मिल सके।

अब चलिए डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी के सिलेबस पर चर्चा करते है, (Syllabus of Diploma in Clinical Pathology) जिसके विषय में आपको इस कोर्स के अंतर्गत पढ़ाया जाता है; जो कुछ इस प्रकार है:-

  1. क्लीनिकल रिसर्च गाइडलाइंस एंड रेगुलेशन
  2. क्लीनिकल रिसर्च मैनेजमेंट
  3. क्लिनिकल ट्रायल प्लैनिंग एंड डिजाइन
  4. क्लीनिकल ट्रायल कंडक्ट कंप्लायंस एंड क्वालिटी
  5. बेसिक सेफ्टी…..etc
  6. एनटीटी कोर्स (NTT Course) क्या है कैसे करें 

Best Colleges For Diploma in Clinical Pathology Course

अगर आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो किसी अच्छे कॉलेज से इस कोर्स को करना ज्यादा फायदेमंद रहता है। इसीलिए अब मैं आपको कुछ टॉप कॉलेजेस के नाम बताने जा रही हूं (Best Colleges For Diploma in Clinical Pathology Course) जिसके अंतर्गत आप इस कोर्स को आसानी से कर सकते हैं साथ ही इस कोर्स में आपको पढाई भी बहुत अच्छे से कराई जाती है साथ ही अगर आप अपने तरीके से College देखना चाहते है तो आप जरूर देख सकते है खेर, आये जानते है बेस्ट कॉलेजेस का नाम:-

  1. BMCRI, Bangalore 
  2. KGMU, Lucknow 
  3. IPGMER, Kolkata
  4. SRM University, Chennai
  5. Government Medica College, Surat
  6. Raja Raheshwari Medical College and Hospital, Bangalore 
  7. Uttar Pradesh University of Medical Sciences, Saifai
  8. Jamia Hamdard, New Delhi
  9. Jagannath Gupta Institute of Medical  Sciences and Hospital, Kolkata 
  10. CCM Medical College, Durg….etc

10th के बाद पैथोलॉजी कोर्स कैसे करें

दोस्तों अगर आप अपना करियर किसी लैब तकनीशियन में बनाना चाहते है तो आपके लिए DMLT का course होता है आप इस course को 10th के बाद कर सकते है साथ ही आप एक LAB Technician बन सकते है तो इसमें आपको करना कुछ नहीं होता है बस आपको 10th पास करना होता है इसके बाद आपका काम हो जाता है यानी की आपको बस DMLT में दाखिला लेना होता है।

ये एक डीएमएलटी कोर्स डिप्लोमा प्रोग्राम होता है साथ ही इस कोर्स को आप 2 साल में पूरा कर सकते है तो ये भी बहुत अच्छा option आपके लिए हो सकता है अगर आप अपना career medical field में जलधि से बनाना चाहते है तो, साथ ही इस कोर्स को करने के बाद बहुत option आपको मिल जाता है साथ ही आप जॉब करके आगे की पढाई कर सकते है।

डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के बाद जॉब के क्या ऑप्शन है?

दोस्तों अब बात करते है की डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के बाद जॉब के क्या ऑप्शन है (Job Options After doing DCP Course) खेर, अगर आप इस कोर्स को कर लेते हैं तो आपके पास जॉब के बहुत सारे अवसर खुलकर सामने आते हैं आप चाहे तो सरकारी या प्राइवेट दोनों संस्थानों में कार्य कर सकते हैं इस कोर्स को करने के बाद मुक्ते आपको जॉब मिल जाती है वह कुछ इस प्रकार है:-

  1. Clinical Manager
  2. Medical Examiner
  3. Medical Transcriptionist
  4. Lab Executive
  5. Clinical Pathologist
  6. सरकारी कॉलेज में टीचर
  7. यूनिवर्सिटी लेक्चरर
  8. प्राइवेट हॉस्पिटल में जॉब
  9. प्राइवेट क्लिनिकल सर्विसेज
  10. प्राइवेट लैबोरेट्रीज…. इत्यादि।

डीसीपी कोर्स करने के उपरांत सैलरी कितनी मिल सकती है (DCP Salary)

दोस्तों अब हमलोग ये जानने का प्रयास करते है की डीसीपी कोर्स करने के उपरांत सैलरी कितनी मिल सकती है (DCP Salary) तो हम आपको इसके बेसिक से लेकर professional तक की वेतन मिलने वाली के बारे में बताएंगे खेर, इस कोर्स को कर लेने के बाद आपकी एवरेज सैलेरी 400000 से ₹1000000 तक हो सकती है। यह आपके काम पर भी निर्भर करता है और आप किस फील्ड से जॉब कर रहे हैं।

अगर आप क्लीनिकल मैनेजर की पोस्ट पर जॉब पा लेते हैं तो आपकी एवरेज सैलेरी 558000 हो सकती है और वही अगर आप क्लीनिकल पैथोलॉजी के क्षेत्र में जॉब पा लेते हैं तो आपकी एवरेज सैलेरी 900000 से ₹1000000 तक हो सकती है। यह आपके कार्यक्षेत्र पर निर्भर करता है कि आप किस कार्य क्षेत्र से नौकरी कर रहे हैं तो इतना मान लीजिये की इस Field में आपको वेतन बहुत जाएदा मिल जाती है जो की आपके ज़िनदगी जीने के लिए बहुत ही सही है।

Must Read: 1K or 1M Meaning in Hindi

डीसीपी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कैसे करें

दोस्तों अब आपको बताने जा रही हूँ की आप डीसीपी एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी कैसे करें तो में आपको बताना चाहती हूँ की इस एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने के लिए आपको कुछ बातों का खास धेयान में रखना होगा तो इससे आपको बहुत ही अच्छा हेल्प हो जायेगा जो की आपके लिए बहुत सही है।

तो सबसे पहले आपको सिलेबस के अनुसार अपना टाइम टेबल बना कर रख ले क्यूंकि अगर आप सिलेबस के अनुसार टाइम टेबल बना लेते है तो आका syllabus पूरी बहुत आसानी से हो जाती है तो देखा जाये तो ये चीज बहुत सही है इसीलिए आप टाइम table बना कर रख लें।

साथ ही आप Topics को Revise करें इससे आपका entrance exam का preparation बहुत अच्छे से हो जाता है इसीलिए आप Topic को Revise जरूर करें साथ ही Practice Previous Year Question Paper यानी की आपको पिछले साल वाली question paper को practice करना चाहिए इससे आपको एक idea मालूम चल जाता है जिससे आप अपना तैयारी अच्छे से कर पाते है।

डिप्लोमा इन क्लीनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के क्या क्या फायदे है?

अब हमलोग आखिरी में ये जान लेते है की (DCP Course Karne Ke Kya Kya Fayde Hai) तो देखो इसके बहुत फायदा है क्यूंकि सबसे पहला अगर आप पढाई पूरी कर लेते है इसके बाद आपको Job Opportunity बहुत जाएदा मिलता है और दूसरा ये की इसके अंदर Respect बहुत जाएदा होता है तो देखा जाए तो ये कोर्स बहुत ही अच्छा है बस आपको इस कोर्स को अच्छे से कर लेना है।

खेर, इस कोर्स को करने के बाद आपको जॉब के लिए कभी परेशान नहीं होना होता है इसके अलावा भी इसके बहुत सारे फायदे हैं जैसे:-

  1. इस कोर्स को करने के बाद आप सरकारी नौकरी पा सकते है।
  2. इस कोर्स को कर लेने के बाद आपको नौकरी के लिए परेशानी बहुत कम होती है।
  3. आप इस क्षेत्र में नौकरी आने के बाद अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं। जिससे आपको भविष्य में कभी कोई परेशानी नहीं होगी।
  4. डिप्लोमा इन टैक्सेशन लॉ कोर्स कैसे करें

Conclusion

आज के आर्टिकल में मैंने आपको डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स के विषय में बताया आज मैंने आपको बताया कि डिप्लोमा इन पैथोलॉजी कोर्स क्या होता है डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स कैसे करें (Diploma in Clinical Pathology Course Details in Hindi) डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स करने के क्या-क्या फायदे हैं? इन सभी चीजों के बारे में आज मैंने आपको इस आर्टिकल मे बताया आशा करती हूं कि आपको हमारा आज का आर्टिकल पढ़कर डिप्लोमा इन क्लिनिकल पैथोलॉजी कोर्स के विषय में पूर्णता जानकारी अवश्य मिल गई होगी।

अगर आपको हमारा आज का आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा होगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिएगा और अगर आपके मन में इस से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप हमें बेझिझक कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

धन्यवाद!

Leave a Comment