Pharm D क्या है कैसे करे – Doctor of Pharmacy Course in Hindi

कितना आसान होता है न किसी को डॉक्टर बोलना लेकिन क्या आपको मालूम है की डॉक्टर बनना इतना आसान नहीं है इसके लिए बहुत मेहनत करना होता है इसके बाद ही आप डोकर बनते है खेर में आपको बताऊंगा की Pharm D क्या है Pharma D कैसे बने और Phar D करने की योगयता क्या होना चाहिए फार्म डी में करियर करियर स्कोप क्या है (Career scope after Pharm D in Hindi) तो डिटेल्स में जानकारी देंगे इसलिए ये आर्टिकल लास्ट पड़ते रहना।

आज दुनिया का सबसे बड़ा रोजगार का क्षेत्र medical sector है क्योंकि मेडिकल सेक्टर की जरूरत आए दिन बढ़ती जा रही है हमारी जिंदगी में सबसे महत्वपूर्ण हमारा health है और इस health को बनाए रखने के लिए मेडिकल सेक्टर बहुत ही आम भूमिका निभाती है. आज मेडिकल सेक्टर में फार्मेसी का क्षेत्र बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है.

Pharmacy क्षेत्र है जिसमें मेडिकल और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के लिए दवाइयां बनानी होती है और आज के समय में मेडिकल सेक्टर में फार्मेसी का मार्केट बहुत ज्यादा ही है. जो भी छात्र फार्मेसी के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं उनके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा. आज के इस आर्टिकल में हम फार्मेसी के Pharm D course के बारे में विस्तार से जानेंगे| इस आर्टिकल में Pharm D course के संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण निम्नलिखित जानकारी मिलेगी|

Pharm D kya hai kaise kare

जब आपके पास इस कोर्स के संबंधित सारी जानकारी होती है तभी आप इस कोर्स को अच्छे तरीके से कर पाते हैं आज के इस आर्टिकल में हम इन सारे बिंदुओं के बारे में विस्तार से जानेंगे| अगर आप फार्मा डी कोर्स करके फार्मेसी की  क्षेत्र में अपना एक अच्छा Career बनाना चाहते हैं और फार्मा डी कोर्स के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ें|

Pharm D Course क्या है पूरी जानकारी

Pharm D कोर्स एक प्रोफेशनल कोर्स है. फार्म डी कोर्स फार्मेसी में doctoral डिग्री का कोर्स है. यह एकमात्र ऐसा डॉक्टर डिग्री का कोर्स है जिससे बारहवीं कक्षा के बाद आप कर सकते हैं| इस कोर्स के लिए आपको 6 साल का समय देना होता है. pharm D कोर्स में आपको 5 साल एकेडमी की पढ़ाई करनी होती तथा 1 साल फार्मेसी के क्षेत्र में ट्रेनिंग करना होता है.

तब जाकर फार्म डी का कोर्स पूरा होता है. फार्म डी कोर्स को आप फार्मेसी में बैचलर डिग्री करने के बाद भी कर सकते हैं. बैचलर डिग्री करने के बाद इस कोर्स के लिए आपको 3 साल का समय लगता है.

इस कोर्स में दवाइयों के बारे में पढ़ा जाता है। pharm d कोर्स रिसर्च based होता है। Pharm D कोर्स में आपको मेडिकल Research की दवाइयों के बारे में पढ़ाया जाता है इसमें आपको नई नई बीमारियों और एंटीवायरस जैसी चीजों पर रिसर्च करनी होती है।

Pharm d भारत में पहले नहीं होता था पर इस कोर्स की मांग विदेश में बहुत ज्यादा थी और जो भी छात्र हमारे यहां बैचलर डिग्री में फार्मेसी कोर्स करके विदेश में फार्मेसी की क्षेत्र में काम करने जाते हैं तो उन्हें कम अवसर प्राप्त होता है। छात्रों के आवेदन और फार्म डी के बढ़ती मांग को देखते हुए हमारे देश में इस कोर्स को लाया गया. आज हमारे देश में बहुत कम ही कॉलेज है जो कि फार्म डी कोर्स को कराते हैं.

जिनमें से अधिकतर कॉलेज प्राइवेट हैं. 95% प्राइवेट कॉलेज Pharm d course को करवाते हैं जबकि 5% सरकारी कॉलेज में आप Pharm D कोर्स को कर सकते हैं. pharm d  हम नई नई बीमारियों पर रिसर्च करते हैं नए दवाइयों के बारे में सीखते हैं दवाइयां कैसे बनाई जाती हैं दवाइयां कैसे काम करती हैं और दवाइयों को बनाने में कौन से raw material  का इस्तेमाल किया जाता है.

इस कोर्स में हमें मेडिकल क्षेत्र के और भी बहुत सारी चीजों को भी सिखाया जाता है. यह कोर्स में आपको बहुत अधिक प्रैक्टिकल नॉलेज दिया जाता है क्योंकि इस कोर्स का सिलेबस research based होता है. इस कोर्स में हमें मरीजों के रोगों की जांच करने के बारे में भी पढ़ाया जाता है|

इसमें हम मेडिकल test के बारे में भी पढ़ते हैं| इस कोर्स को करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकते हैं| फार्म डी कोर्स करने के बाद आपको फार्मेसी में पीएचडी डिग्री नहीं करनी होती है| pharm d  कोर्स पीएचडी कोर्स के समांतर कोर्स है| इसीलिए यह कोर्स research based  होता है|

Most Read: Custom Officer क्या है कैसे बने 

फार्मा डी कोर्स के लिए योग्यता (Pharm D Course Eligibility)

  • फार्मा डी कोर्स के लिए शैक्षणिक योग्यता यह है कि आपको किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से बारहवीं के परीक्षा physics, chemistry, math या physics, chemistry, biology विषय के पास करनी होती है।
  • इस कोर्स के लिए आपको अपनी 12वीं की परीक्षा में कम से कम 50 से 60% अंक लाने होते हैं।
  • आप इस कोर्स को डिप्लोमा इन फार्मेसी कोर्स करने के बाद भी कर सकते हैं।
  • pharm D course में lateral entry के लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी इंस्टीट्यूट से बी फार्मा का कोर्स करना होता है आपको अपने बी फार्मा में कम से कम 50 से 60% अंक लाने होते हैं।

उम्र सिमा (Age Limit)

Pharm D कोर्स के लिए आवेदक की न्यूनतम आयु 17 वर्ष तय की गयी है| pharm D कोर्स के लिए कोई maximum age limit नही तय गयी है| इस कोर्स को आप 17 वर्ष के बाद किसी भी उम्र में कर सकते हैं|

Most Read: गर्मी की छुट्टी पर निबंध 

Pharma D कैसे बने पूरी जानकारी

किसी भी प्रोफेशनल कोर्स में दाखिला लेने का दो तरीका होता है पहला आपके 12वीं के अंक के आधार पर तथा दूसरा आप उस कोर्स के लिए एक प्रवेश परीक्षा (Entrance Exam) द्वारा दाखिला ले सकते हो।

ठीक ऐसे ही फार्म डी कोर्स में दाखिला लेने के लिए आपके पास दो ऑप्शन है पहला आप अपने 12वीं के अंक के आधार पर इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं तथा दूसरा आप प्रवेश परीक्षा के द्वारा इस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

इसीलिए इस कोर्स को करने के लिए आपको सबसे पहले अपनी 12वीं के पढ़ाई बहुत अच्छे से करनी होगी ताकि आप 12वीं की कक्षा में बहुत ही अच्छे अंक ला पाएं और उसी अंक के आधार पर आप बहुत अच्छे कॉलेज में इस कोर्स के लिए दाखिला ले सके। 12वीं के अंक इस कोर्स के लिए बहुत मायने रखते हैं। 11वीं और 12वीं कक्षा इस कोर्स के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है.

अगर आप इस कोर्स में बहुत अच्छा करना चाहते हैं तो आप अपने 12वीं और 11वीं कक्षा में बहुत अच्छे से पढ़ाई करें क्योंकि 11वीं और 12वीं कक्षा में आपको विज्ञान विषय की बहुत अच्छी जानकारी दी जाती है और यह सारी जानकारी आपको इस कोर्स की पढ़ाई में बहुत ही मदद करती है. इसीलिए आप अपने 12वीं और ग्यारहवीं कक्षा की पढ़ाई बहुत ही अच्छे से करें और 12वीं कक्षा में बहुत अच्छा अंक प्राप्त करें ताकि आप किसी अच्छे कॉलेज में दाखिला ले सके।

बहुत सारे कॉलेज इस कोर्स में दाखिला लेने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित कराती है। NEET परीक्षा द्वारा जब आप इस कोर्स में दाखिला लेते हैं तो आपको बहुत सारी फायदा मिलता है जैसे कि आपको इस कोर्स को करने के लिए छात्रवृत्ति प्राप्त होती है पर इस परीक्षा के द्वारा आप अच्छे कॉलेज में इस कोर्स को कर सकते हैं.

इसलिए अगर आप फार्मा डी कोर्स को करना चाहते हैं तो आप प्रवेश परीक्षा द्वारा ही इस कोर्स में दाखिला ले आप इसके प्रवेश परीक्षा की तैयारी अपने 11वीं 12वीं कक्षा से ही शुरु कर दें क्योंकि इन प्रवेश परीक्षाओं में प्रश्न आपके 11वीं और 12 वीं कक्षा के विषय से ही पूछे जाते हैं।

हमारे देश में इस कोर्स को दाखिला लेने के लिए कई सारे वर्ष परीक्षा आयोजित होती है पर अब मैं आपको हमारे देश की कुछ प्रमुख प्रवेश परीक्षाओं की लिस्ट दूंगा जिसके जरिए आप इस कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। Best Entrance Exam For Pham D.

  • NIPER JEE 
  • Bharati Vidyapeeth common entrance test
  • Dayananda Sagar University common entrance test
  • MU OET 
  • NIMS entrance exam 
  • VELS entrance exam
  • Maharashtra common entrance test
  • Integral University entrance test

Best Pharma D College in India

फार्म ड कोर्स हमारे देश में अभी कुछ समय पहले ही शुरू हुआ है इसीलिए अभी बहुत ही कम कॉलेज इस Pharma D course को करवा रहे है। हमारे देश में अभी अधिकतर प्राइवेट कॉलेज फार्मा डी कोर्स को करवा रहे हैं। फार्मा डी कोर्स को करवाने वाले कॉलेज में 95% कॉलेज प्राइवेट कॉलेज हैं जबकि 5% कॉलेज सरकारी कॉलेज है.

फार्मा डी कोर्स को करवाने वाले कॉलेज UGC और AICET से मान्यता प्राप्त होनी चाहिए जबकि कुछ कॉलेज MCI से भी मान्यता प्राप्त होती है जो कॉलेज मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया का मान्यता प्राप्त होती हैं। उन कॉलेज में आप के कैंपस के अंदर एक हॉस्पिटल होता है और इस तरह के कॉलेज में फार्म ड कोर्स को करने वाले छात्रों को बहुत अधिक फायदा मिलता है.

क्योंकि उन्हें कैंपस के अंदर ही ट्रेनिंग की बहुत अच्छी सुविधा मिलती है। इसीलिए एमसीआई से मान्यता प्राप्त कॉलेज में फार्मा डी कोर्स करने के लिए बहुत अधिक मांग है। इसीलिए अब मैं आपको हमारे देश की टॉप फार्मा डी कॉलेज इन इंडिया की लिस्ट दूंगा।

  • Manipal College of Pharmaceutical science
  • JSS College of Pharmacy
  • Chandigarh University 
  • L M College of Pharmacy
  • NIMS College 
  • Goa College of Pharmacy
  • Andhra University Pharmaceutical science
  • Al-Ameen College of Pharmacy
  • k l e college of pharmacy
  • Sri Ramachandra Institute of higher studies and research

फार्म डी में करियर करियर स्कोप (Career scope after Pharm D in Hindi)

pharm D course की मांग भारत से ज्यादा विदेश में जो छात्र इस कोर्स को कर रहे हैं। उन्हें विदेश में फार्मास्यूटिकल कंपनी में बहुत अच्छा अवसर प्राप्त होते हैं। भारत में भी pharm d course  करने के बाद आपको बहुत अच्छा अवसर प्राप्त होता है।

क्योंकि पूरे विश्व में भारत सबसे बड़ा दवाई उत्पादन करने वाला देश है इसीलिए आज भारत में इस कोर्स को करने के बाद आपको बहुत अच्छा अवसर प्राप्त होता है। आज इस कोर्स की मांग बहुत तेजी से बढ़ रही है इस कोर्स को करने के बाद आपको health sector के विभिन्न विभिन्न भाग में बहुत अच्छी नौकरी प्राप्त जैसे कि-

  • Private hospital
  • government hospital
  • Pharmaceutical company
  • medical testing lab
  • research lab

Pharmacy college (इस कोर्स को करने के बाद आपको फार्मेसी कॉलेज में पढ़ाने का भी अवसर प्राप्त होता है. फार्मेसी कॉलेज में बी फार्मा डी फार्मा के छात्रों को पढ़ा सकते हैं) इसके अलावा आप खुद की दवाई दुकान और फार्मास्यूटिकल कंपनी खोल सकते हैं।

फार्मा डी की वेतन (Salary after pharm D course)

pharm D course को करने के बाद भारत में आपको औसतन ₹30000 से लेकर ₹40000 तक की सैलरी वाली नौकरी मिलती है इसके अलावा जैसे-जैसे आप का समय और अनुभव इस क्षेत्र में बढ़ता है। आपकी सैलरी भी बढ़ती है आप इस क्षेत्र में आराम से भारत में ₹50000 से लेकर ₹60000 तक कमा सकते हैं।

pharm D करने के बाद आप विदेश में नौकरी पा सकते हैं और वहां पर आपको आसानी से ₹60000 से लेकर ₹80000 तक की नौकरी शुरुआत में मिल जाती है। विदेश में आपको और भी बहुत सारे अवसर इस क्षेत्र में प्राप्त होतें है। और वहां पर इस कोर्स को बहुत अधिक तवज्जो दिया जाता है।

Most Read: Million, Billion ओर Trillion क्या है – Million Means in Hindi

Conclusion 

आज इस आर्टिकल में हमने pharm D कैसे करें? pharm D कोर्स के बारे में बहुत महत्वपूर्ण जानकारियां जानी जैसे कि-

  1. pharm D  kya hai
  2. Eligibility for pharm D
  3. pharm D Kaise kare
  4. pharm D course fees
  5. best pharm D college in india
  6. The career scope after pharm D
  7. Salary after pharm D

आज इस आर्टिकल में मैंने आपको इन सारे बिंदुओं पर बहुत विस्तार से बताया है। इस आर्टिकल में मैंने आपको pharm D कोर्स से संबंधित हर एक जानकारी दी है। मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़कर आपको इस कोर्स की सारी जानकारी मिल गई होगी और फिर भी आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

1 thought on “Pharm D क्या है कैसे करे – Doctor of Pharmacy Course in Hindi”

Leave a Comment