युपीएससी (UPSC) क्या है युपीएससी एग्जाम की पूरी जानकारी

आज की इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा की युपीएससी क्या है (What is UPSC in Hindi) युपीएससी एग्जाम की योगयता क्या होता है (Eligibility for UPSC Exam) युपीएससी एग्जाम की तैयारी कैसे करे (UPSC Exam Preparation) युपीएससी एग्जाम के बाद सैलरी कितनी होती है (What is the salary after the UPSC exam) ये सारे सवालों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जायेगा बस आप ये आर्टिकल पढ़ते रहिये.

आजकल की इस भागदौड़ वाली life में सपने तो सब देखते हैं पर इस सपने को पूरा कर पाना वह भी इस competition वाले युग में थोड़ा मुश्किल तो है पर Impossible भी नहीं है, क्योंकि लोगों के पास बड़े-बड़े सपने हैं और उसे पूरा करने के लिए आंखों में ललक भी होती है।

दोस्तों आज के समय में हर युवा एक बहुत अच्छी सरकारी पोस्ट पर नौकरी करना चाहता है। सबकी इच्छा होती है कि वह एक अच्छे सरकारी विभाग में एक बड़े अफसर के पोस्ट पर नौकरी पाए।

upsc exam kya hai
pic: pixabay

हमारे देश के सारे सरकारी विभागों के बड़े अफसरों की नियुक्ति के लिए एक परीक्षा आयोजित होती है और यह परीक्षा हमारे देश के सबसे सम्माननीय और कठिन परीक्षा में से एक है।

आप सब ने तो कभी ना कभी यूपीएससी परीक्षा के बारे में सुना ही होगा। अगर आप भी यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं और यूपीएससी परीक्षा से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों को पाना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ें।

युपीएससी क्या है (What is UPSC in Hindi)

क्या है UPSC? यूपीएससी भारत का प्रमुख भर्ती एजेंसी मे से एक है. यह सभी भारतीयों को सेवाओं के लिए नियुक्त करता है. परीक्षाओं का आयोजन करता है.

जिसमें देश के सर्वश्रेष्ठ सभी सेवाएं सम्मिलित है जैसे IAS, IPS, IRS और अन्य सभी सरकारी नौकरियां जो इन परीक्षा में सम्मिलित है.

UPSC full form kya hai?

UPSC full form Union public service commission या  संघ  लोक सेवा आयोग. इनका मुख्य काम group A और group B जैसे श्रेणियों में अधिकारियों को सिविल सेवाओं में भर्ती करना है.

युपीएससीएग्जाम की योगयता (Eligibility for UPSC Exam)

युपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार के पास कम से कम केंद्रीय या राज्य सरकार से मान्यता प्राप्त university से किसी भी stream से graduation की डिग्री होना अनिवार्य है.

युपीएससी देने के लिए उम्मीदवार को graduation पूरा करना भी अनिवार्य है यानी graduation के अंतिम वर्ष यानी अंतिम semester में अध्ययनरत होना अति आवश्यक है.

उम्र सिमा (UPSC Exam Age Limit)

युपीएससी देने के लिए विभिन्न category वालों के लिए अलग अलग age limit होती है:-

I). सामान्य यानी general वर्ग के उम्मीदवारों  के लिए न्यूनतम उम्र 21 वर्ष  एवं अधिकतम उम्र 32 वर्ष यानी अधिकतम सामान्य वर्ग वाले 6 बार एग्जाम दे सकते हैं.

II). SC – ST वर्ग वाले उम्मीदवारों के लिए उम्र सीमा में 5 वर्ष की छूट दी जाती है यानी न्यूनतम उम्र 21 वर्ष एवं अधिकतम उम्र 37 वर्ष तक है.

III). अन्य पिछड़ा वर्ग यानी OBC वाले उम्मीदवारों को 3 वर्ष की सीमा छूट दी जाती है. OBC CATEOGARY के छात्र के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष तथा अधिकतम आयु 35 वर्ष है. अन्य पिछड़ा वर्ग के छात्र 9 बार UPSC EXAM को दे सकते हैं.

DIFFERENT TYPE OF EXAM CONDUCT BY UPSC

 Upsc के द्वारा conduct की जाने वाली परीक्षाएं:-

  1. CSE (Civil Service examination) 
  2. ESE (Engineering Service Examination)
  3. CDSE (Combined Defence Service Exam
  4. IFS (Indian Forest Service)
  5. NDA (National Defence Examination) 

आयोग द्वारा विभिन्न सरकारी परीक्षाओं का आयोजन करवाया जाता है, जिसमें IPS, IAS, IRS, IES, NDA,  NA,  CMS,  IFS, CAPF, Combined Geo -Scientist  and geologist आदि परीक्षाएं सम्मिलित है. इसके साथ ही कई अन्य  सरकारी विभागों में नियुक्ति के लिए परीक्षा का आयोजन भी करवाती है.

युपीएससी एग्जाम की तैयारी कैसे करे (UPSC Exam Preparation)

दोस्तों यूपीएससी की परीक्षा हमारे देश के सबसे कठिन परीक्षा (Exam) में से एक है इसमें आप यह नहीं कह सकते कि किन-किन विषय से प्रश्न आता है इसमें आपके सारे विषय से प्रश्न आ सकते हैं इसीलिए इस परीक्षा को हमारे देश की सबसे कठिन परीक्षा में एक कहा जाता है.

आज भी अधिकतर युवाओं का सपना होता कि वह यूपीएससी क्लियर करें. पर उन्हीं युवाओं का सपना सफल हो पाता है जो कि अपने मेहनत सही दिशा में करते हैं और किसी भी चीज में सफल होने के लिए सबसे पहले हमें उसकी जानकारी जुटा लेनी चाहिए.

 1  यूपीएससी की परीक्षा में अच्छे अंक लाने के लिए आपको निरंतर बहुत ही मेहनत करना होता है आपको हर एक विषय को बहुत अच्छे से पढ़ना होता है सारे विषयों की बेसिक जानकारी के लिए आपको कक्षा 6 से लेकर कक्षा 10 तक की NCERT की सारी किताबें पढ़नी होती है. इसके अलावा आपको computer application की जानकारी होना भी बहुत जरूरी है.

 2  सबसे पहले किताबों का सही चुनाव अति आवश्यक है आपको उन्हीं किताबों का अध्ययन करना चाहिए जो UPSC एग्जाम के लिए सुझाए जाए आपको इन किताबों को एक नहीं दो – तीन बार पढ़ना चाहिए. पहली बार में आपको chapters डिसाइड करना होगा कौन कठिन है, कौन सरल है

दोबारा जब आप पढ़ें तब जो अहम chapter है यानी कठिन वाले उस से शुरुआत करें अगर आप prelim या maims से पहले इन किताबों का एक बार फिर अध्ययन कर लेंगे तो काफी अच्छा हो जाएगा. जिससे आम भाषा में स्टूडेंट revision कहते हैं.

 3  दूसरी बात अगर आपको मालूम है की सिविल सर्विस एग्जाम में करंट अफेयर्स और जनरल नॉलेज यानी GK काफी मायने रखते हैं. एक हद तक कहें तो यह काफी जरूरी है. Paper 1 करंट अफेयर्स और GK से कम से कम 30 – 40 सवाल पूछे ही जाते हैं. इन चीजों को पूरा करने के लिए किताबों के साथ-साथ आपको न्यूज़पेपर और मैगजीन रोजाना अध्ययन करना भी अति आवश्यक है.

 4  अंतिम और सबसे आखरी बार जो सिर्फ UPSC ही नहीं बाकी परीक्षाओं के लिए भी जरूरी है, वाह है तैयारी शुरू करने से पहले एक Routine बनाना और उसे अमल करना. इसके लिए आपको 10 -12 महीने की Routine बनानी होगी और इस Routine को आपको समय के अनुसार paper 1 और paper 2  के लिए बांटना होगा. पेपर 2, यह पेपर 1 के बाद  होगा अगर आप paper 1 में अच्छे अंकों के साथ पास हो जाते हैं यानी paper 2 qualifying paper है.

 5  इसीलिए उससे पहले आपको ज्यादा फोकस paper-1 यानी general study पर करना होगा तथा आप तैयारी किस प्रकार कर रहे हैं. इसके लिए आपको प्रतिदिन मॉक टेस्ट देना भी अनिवार्य है इससे आपको पता चलेगा कि आप की तैयारी किस दिशा में और किस label तक पहुंची है, उस हिसाब से आप अपनी Routine में परिवर्तन ला सकते हैं ताकि आप की तैयारी और अच्छी हो सके.

 6  दोस्तों आपको यूपीएससी की 10 से 15 साल के पुराने प्रश्नों को भी हल करना बहुत जरूरी है इन प्रश्नों से हमें अंदाजा लग जाता है कि किस किस तरह के प्रश्न हमसे पूछे जा सकते हैं और इससे हम अपनी तैयारी को और ज्यादा मजबूत कर सकते हैं.

You May Also Like!

युपीएससी एग्जाम की सिलेबस (UPSC Exam Syllabus) 

UPSC की सिविल सर्विस की परीक्षा में 2 पेपर होता है पहला पेपर civil service aptitude test paper और दूसरा पेपर जनरल स्टडी या जनरल एबिलिटी टेस्ट होता है.

पहला पेपर जो कि 2 घंटे का होता है और 200 अंकों का होता है, इसमें निम्नलिखित टॉपिक पूछे जाते हैं:-

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समकालीन घटनाएं
  • भारत का इतिहास और भारत का राष्ट्रीय आंदोलन
  • भारत और विश्व का भूगोल
  • भारतीय राजनीति विज्ञान और शासन संविधान, राजनीतिक तंत्र ,पंचायती राज ,लोकनीति ,अधिकार ,समस्या आदि
  • आर्थिक एवं सामाजिक विकास ,धारणीय विकास ,गरीबी, समावेशी विकास और अन्य सामाजिक एवं आर्थिक समस्या
  • पर्यावरण ,जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन
  • सामान्य विज्ञान

पेपर दो इसमें आपको पास होना अनिवार्य है इसमें पहले पेपर का अंक नहीं जोड़ा जाता है, इसके टॉपिक कुछ इस प्रकार पूछे जाते हैं:-

  • पद पढ़कर उसके आधार पर जवाब देना
  • communication skill
  • तार्किकता से जुड़े सवाल
  • निर्णय लेने और समस्याओं के हल संबंधित सवाल
  • मानसिक योग्यता से जुड़े सवाल
  • बुनियादी गणित से जुड़े सवाल
  • सांख्यिकी से जुड़े सवाल

Mains ka syallbus:- मेंस में कुल 9 पेपर होते हैं उसमें से दो पेपर 300 मार्क्स के होते हैं यानी उस में पास होना अनिवार्य है. लेकिन final मेरिट के लिए उनके marks को नहीं जोड़ा जाता बाकी के 7 पेपर में निबंध, सामान्य अध्ययन का चार पेपर और दो ऑप्शनल पेपर होते हैं. जो पेपर 250 अंकों के होते हैं, यानी कुल 1750 अंकों का पेपर होता है.

इन सातों पेपर में हासिल मार्क्स के basis पर ही फाइनल merit तैयार किया जाता है|

Personality test:- Mains एग्जाम के बाद पर्सनैलिटी टेस्ट यानी आम भाषा में कहें तो इंटरव्यू होता है, इसमें केवल आपके विषय से ही प्रश्न नहीं किए जाते बल्कि उम्मीदवार के हाजिर जवाब की भी परीक्षा ली जाती है, उम्मीदवार के आत्मविश्वास की परीक्षा ली जाती है, किसी भी कठिन परिस्थिति में उम्मीदवार की निर्णय लेने की क्षमता को परखा जाता है. यूपीएससी परीक्षा का सबसे कठिन चरण इंटरव्यू ही होता है अधिकतर छात्र इंटरव्यू में  ही असफल हो जाते हैं.

युपीएससी एग्जाम के बाद सैलरी (Salary After the UPSC Exam)

जैसा कि पहले ही मैंने बताया UPSC के लिए विभिन्न पदों पर एग्जाम लिए जाते हैं यानी विभिन्न पदों की सैलरी भी विभिन्न होती है.

इंडियन फॉरेन सर्विस की बात की जाए तो इनकी सैलरी 12750 से 90000 तक उनकी रैंक पर डिपेंड करता है. अगर बात इंडियन फॉरेस्ट सर्विस की की जाए तो इनकी सैलरी 15600 से 67000 तक होती है.

इंडियन रिवेन्यू सर्विस की बात की जाए तो इनकी per month की सैलरी 80000 तक होती है. इंडियन रेलवे ट्रेफिक सर्विस की सैलरी 1.5 Lakhs करीब होती है.

सैलरी के अलावा group A और group B  के सरकारी कर्मचारियों को बहुत सारी सुविधाएं भी प्राप्त होती हैं और इन्हें समाज में बहुत ज्यादा सम्मान भी प्राप्त होता है।

Conclusion 

दोस्तों आज का यह आर्टिकल हमारे देश के सबसे कठिन और सबसे सम्मान परीक्षा के बारे में हमने लिखा है। इस आर्टिकल के जरिए मैंने कोशिश की है कि आप लोगों को बहुत ही आसान शब्दों में यूपीएससी से संबंधित सारी छोटी-बड़ी जानकारियां दे सकूं। आर्टिकल में हमें यूपीएससी से जुड़े निम्नलिखित जानकारियों को बहुत विस्तार से जाना है।

  • UPSC kya hai ?
  • UPSC exam ki eligibility kya hai?
  • different exam conduct by upsc?
  • UPSC ki preparation kaise kare?
  • UPSC exam syllabus?
  • UPSC exam ke bad salary?

मैं आशा करता हूं कि आपको हमारा आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा होगा और मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल के जरिए आपको यूपीएससी के सारी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। अगर फिर भी आपके मन में कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here