ओटीपी (OTP) क्या होता है पूरी जानकारी – OTP Ka Full Form

जब भी हमलोग किसी भी चीज में कोई account बनाते है तो OTP जरूर आता है और आपने OTP का इस्तेमाल जरूर किया होगा तो आज मैं आपको बताऊंगी ओटीपी क्या होता है (OTP Kya Hota hai) ओटीपी का इस्तेमाल क्यों करते हैं? ओटीपी इस्तेमाल करने के क्या-क्या फायदे हैं? OTP full form in Hindi इन तमाम चीजों के बारे में आज के आर्टिकल में मैं आपसे जिक्र करने जा रही हूं और आशा है आपको यह पढ़कर ओटीपी से संबंधित पूर्ण जानकारी अवश्य मिल जाएगी।

आज के समय में आप में से अधिकतर लोग ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या सोशल मीडिया का इस्तेमाल अवश्य करते होंगे और यह आज के समय में अपडेट रहने के लिए जरूरी भी है। अगर आप इनका इस्तेमाल करते हैं तो आप ओटीपी का जिक्र अवश्य सुने होंगे और कभी-कभी आपके मन में प्रश्न आता भी होगा कि ओटीपी होता क्या है? तो आज मैं आपको इससे संबंधित ही विस्तार पूर्वक जानकारी देने जा रही हूं।

OTP Kya Hota hai

देखो आज के समय में ओटीपी लोगों का बहुत बड़ा Security Control बन चूका है और ये सबसे जाएदा authentic भी लगता है क्यूंकि ओटीपी डायरेक्ट आपके Mobile phone में आती है जिससे की आपका कोई भी चीज hack या फिर कोई भी चीज secure रहती है जिससे की आपको लगता है की OTP आखिर होता क्या है और आज के समय में हर जगह ओटीपी का ही इस्तेमाल क्यों होता है तो आये इन सभी चीजों के बारे में अच्छे से जान लेते है।

ओटीपी क्या होता है (What is OTP in Hindi)

आज के समय में दुनिया डिजिटल हो गई है। जहां हम cash का इस्तेमाल करते थे; वहां आजकल हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करना ज्यादा पसंद करते हैं और करें भी क्यों ना, यह ज्यादा secure होती है और हमें time to time अपडेट भी अपने ट्रांजैक्शन का करते रहते हैं। जब भी हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते हैं; उस वक्त आपसे एक security code मांगा जाता है जोकि 6 digit का होता है।

जिसे हम आम भाषा में One Time Password यानी OTP कहते हैं जो सिर्फ और सिर्फ उन्हीं के रजिस्टर्ड मोबाइल में आता है जो कि अपना ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर रहे हैं। जिस कारण अधिकतर लोग यह ज्यादा पसंद करते हैं; क्योंकि यह काफी safe माना जाता है। OTP का प्रयोग करने के पश्चात ही आप अपना पेमेंट पूरा कर पाते हैं। इसके बिना आप ऑनलाइन ट्रांजैक्शन नहीं कर पाते हैं पैरामेडिकल कोर्स क्या है कैसे करे

इसीलिए जब भी हम बैंक में अकाउंट खोलते हैं तो मोबाइल नंबर जरूर रजिस्टर करवाते हैं, ताकि हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन कर सके और ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते वक्त यही चीज होती है जो आप को सुरक्षा प्रदान करती है। जिसे हम OTP कहते हैं। यह आपको ऑनलाइन किसी भी चीज को करने में सुरक्षा प्रदान करती है साथ ही यह हमें डिजिटल भरी दुनिया से रूबरू कराती है।

ओटीपी का इस्तेमाल क्यों किया जाता है (Why is OTP Used in Hindi)

जब भी हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या फिर अकाउंट खोलते हैं तो हमें सबसे जरूरी होता है कि यह secure रहे; जिसके लिए ओटीपी का इस्तेमाल हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या फिर अकाउंट को इस्तेमाल करने के पूर्व चाहिए होता है। साथ ही ओटीपी का इस्तेमाल हम अभी के समय में बढ़ रहे साइबर अपराधों को कम करने के लिए भी करते हैं, क्योंकि ज्यादातर लोग जो किसी ऑनलाइन अकाउंट के लिए अपना मनचाहा पासवर्ड बनाते हैं।

उसमें अपना नाम या date of birth डालते हैं जो कि किसी के लिए भी जानना काफी आसान हो जाता है;इसीलिए ओटीपी का इस्तेमाल किया जाता है ताकि अगर किसी को आपका username, अकाउंट या फिर पासवर्ड पता भी चल जाए तो भी वह आपके अकाउंट या फिर किसी भी ऑनलाइन चीजों का इस्तेमाल ना कर पाए जो सिर्फ और सिर्फ आपको पता हो क्योंकि आपके रजिस्टर मोबाइल नंबर में ही ओटीपी आता है।

जिसे सिर्फ और सिर्फ आप ही प्रयोग कर सकते हैं तो एक तरफ से कहा जाए तो हम ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते वक्त सुरक्षा  प्राप्त करने के लिए सबसे ज्यादा ओटीपी का इस्तेमाल करते हैं। साथ ही किसी भी Plate-form पे Account Create है तो वहां भी OTP ही माँगा जाता है तो कुल मिलाकर देखा जाए तो OTP आपके Security के लिए होता है और इसका इस्तेमाल आपको Authentic करने के लिए किया जाता है।

Must Read: वॉइस आर्टिस्ट (Voice Artist) क्या है कैसे बने

ओटीपी फुल फॉर्म क्या होता है (OTP full form in Hindi)

अब सबसे पहले आपको बताने का कोसिस करते है की ओटीपी का फुल फॉर्म क्या होता है तो OTP का full Form (One Time Password) होता है और ये Mobile Phone Number पे आता है यानी की जो आपका SIM का Number रहता है उसके अंदर हमें OTP मिलता है।

जिससे संबंधित प्रश्न आज के समय में अधिकतर एग्जाम में अवश्य पूछा जाता है, जिसे जानना आपके लिए काफी जरूरी भी है; क्योंकि हम आए दिन इसका इस्तेमाल करते हैं आपको इसके फुल फॉर्म सही पता चल रहा होगा कि यह एक One Time Password होता है; जिसका इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ एक बार ही किया जा सकता है। वह भी कुछ समय के लिए अगर समय खत्म हो जाने के बाद आप इसका इस्तेमाल करना चाहेंगे तो आप इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

इसका इस्तेमाल आज के समय में सबसे ज्यादा net banking में ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करते वक्त किया जाता है और अगर आप सोशल मीडिया use करते हैं तो आप जब भी नए आईडी बनाते हैं, तब आप सही यूजर है या नहीं इसके कंफर्मेशन के लिए आपसे जरूर ओटीपी मांगा जाता है।

इसके अलावा गूगल में भी यूजर के अकाउंट को सुरक्षा प्रदान करने हेतु ओटीपी सेक्रेटरी का इस्तेमाल किया जा रहा है; जिस को एक्टिव करने के बाद कोई भी दूसरा यूजर अपने डिवाइस से आपके अकाउंट का डिटेल डालकर login in नहीं कर सकता, क्योंकि गूगल वेरिफिकेशन के समय ओटीपी पासवर्ड मांगता है जो सिर्फ आपके पास आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ही आता है जो कि एक तरफ से बहुत ही अच्छा और सुरक्षा जनक है।

OTP Kaise Kam Karta Hai

हम सभी लोग ने ये जान गए की OTP होता क्या है तो अब हमलोग ये जानने का प्रयास करते है की OTP Generate कैसे होता है तो में आपको बताना चाहता हूँ की देखो जब आप Software के अंदर अपना Mobile Number डालते हो और Login करते हो तो वहां पर System के तरफ से automatic एक OTP आपके mobile number पे भेज दिया जाता है और फिर वही OTP को आपको अपने software पे enter करना होता है।

इसके बाद आपका OTP से और System से generate किये गए OTP से Match किया जाता है और अगर आपका OTP Match हो जाता है इसके बाद आपका काम हो जाता है यानी की इसके बाद आप successfully verify हो जाते है और फिर आप Login कर लेंगे या फिर Transaction आपका हो जायेगा बरमूडा ट्रायंगल (Bermuda Triangle) क्या है

अगर आपको Technical तरीके से बताये तो ओटीपी HMAC और TOTP या HOTP के द्वारा जेनरेट किया जाता है। यानी की ये एक algorithm होता है और इन्हीं सब algorithm से हमारे phone में OTP मिलता है जो की हमलोग को पता ही नहीं चलता है मैंने आपको जितना भी algorithm बताया है सारा आपके software के अंदर रहता है और आपको पता भी नहीं चलता है और इसी से हमारा Unique OTP Generate होता है।

ओटीपी कितने प्रकार से जेनेरेट किया जाता है

दोस्तों सबसे पहले हम आपको बताना चाहते है की देखो जो ओटीपी होता है वो हमारा 3 तरीके से generate किया जाता है मेरा कहने का मतलब है की आपका OTP तीन तरीके से Verify किया जाता है सबसे पहले आपको OTP आपके number पे मिल जाता है और दूसरा Email पे और तीसरा Voice Call पे जो में आपको निचे अच्छे से बताऊंगा।

 1  Text SMS: देखो इसके अंदर आपका Mobile number का इस्तेमाल किया जाता है यानी की इसमें आपका Mobile number पे एक OTP आता है और इसी से verify किया जाता है और ये सबसे जाएदा easy और popular है।

 2  Email: इसके बाद सबसे जाएदा इस्तेमाल होने वाला OTP email के through से होता है यानी की आपके email में ओटीपी आता है और ये option हर एक में होता है जैसे की अगर आप Login करते है उसके अंदर भी ये option होता है और Transaction करते है वहां पर भी इसका इस्तेमाल होता है।

 3  Voice Call OTP: ये भी popular है लेकिन इसका बहुत कम लोग ही इस्तेमाल करते है और Voice Call OTP का option आपको बहुत कम चीजों में दिखाई देगा वैसे आप Google और Facebook जैसे बड़े software में इसका option रहता है और इसमें होता ये है की आपके mobile number पर एक call आता है और उसमे OTP बताया जाता है और वही OTP को आपको डालना होता है इसके बाद verify हो जाता है।

ओटीपी का प्रयोग कहां-कहां करते हैं?

अब आपको ये पता होना चाहिए की ओटीपी का कहाँ कहाँ इस्तेमाल किया जता है क्यूंकि इसके बारे में आपको कोई पूछ सकता है या फिर आप इसके बारे में जानकारी रख सकते है तो देखो इसका इस्तेमाल हर जगह किया जाता है लेकिन में आपको कुछ चीजों के बारे में बता रहा हूँ उसी से आप समझ लीजियेगा वैसे सारा एक ही चीज होता है लेकिन आप निचे का सारा Point को धेयान से पढ़ो आपको समझ में आ जायेगा।

Note: देखो OTP का इस्तेमाल हर चीजों में किया जाता है जैसे की आप Online में कुछ भी करना चाहते है आपको OTP की जरुरत पड़ती है अगर आप एक File DIGI Locker में Upload करना चाहते है तो उसमे भी account बनाते समय OTP की जरुरत पड़ती है तो आप समझ सकते है की OTP हमारे लिए कितना जरुरी होता है।

ओटीपी से क्या फायदा होता है (OTP Ke Kya Fayde Hai)

हम सभी लोग जानते है की ओटीपी का बहुत सारा बेनिफिट्स होता है और ये इसीलिए होता है क्यूंकि हमें इसके अंदर Security मिलती है और हमलोग Hacker से Safe रहते है और हमारे लिए ये बहुत फायदेमंद साबित होता है खेर, इसके बहुत सारा Benefits है लेकिन हम आपको कुछ जरुरी benefits के बारे में बताएंगे जिनमें से कुछ इस प्रकार है:-

  • यह एक प्रकार का सुरक्षा कोड होता है; अगर आपका ऑनलाइन ट्रांजैक्शन या फिर किसी भी ऑनलाइन काम को करते वक्त पासवर्ड चोरी हो जाए तो भी आप अपने अकाउंट को सुरक्षित पाते हैं; क्योंकि बिना OTP inter किए कोई भी व्यक्ति आपका कोई भी चीज एक्सेस नहीं कर पाता है।
  • यह यूजर को पहचानने में मदद करता है; क्योंकि इसका इस्तेमाल वही लोग कर सकते हैं, जिनके पास अकाउंट द्वारा रजिस्टर मोबाइल नंबर होता है।
  • हम OTP  के द्वारा double security enable कर सकते हैं; जिससे हम किसी भी अकाउंट या सोशल मीडिया को इस्तेमाल करते वक्त ज्यादा सुरक्षा महसूस कर सकें।
  • सबसे अच्छी बात यह है कि इसको इस्तेमाल करने में हमें कोई पैसे का भुगतान नहीं करना होता है,यह  यूजर को फ्री सुरक्षा प्रदान करती है।
    यह सही users को seconds में पहचान लेती है यानी यह ट्रांजैक्शन और यूजर पहचाने के मामले में काफी तेज है।
  • इसका सबसे अच्छा बात यह है कि इसका इस्तेमाल सिर्फ एक ही बार किया जाता है; जो कि कुछ समय के लिए valid रहता है। अगर उस समय के अंदर हमने code का इस्तेमाल नहीं किया तो इसका इस्तेमाल फिर नहीं किया जा सकता है।
  • अगर आपका अकाउंट या फिर username या पासवर्ड किसी व्यक्ति को पता चल भी जाता है तो भी वह आपके अकाउंट का इस्तेमाल बिना ओटीपी के नहीं कर सकता; क्योंकि ओटीपी सिर्फ और सिर्फ आपके रजिस्टर मोबाइल पर ही आती है या फिर आपने जो ईमेल आईडी अकाउंट में डाला है, उसी पर आ सकती हैं। जिसका गलत ढंग से इस्तेमाल करना बहुत ही मुश्किल है।

ओटीपी के क्या नुक्सान हो सकता है (Disadvantages of OTP in Hindi)

अब आपको ये भी जानना बहुत जरुरी है की OTP का क्या नुक्सान हो सकता है तो में आपको बताना चाहता हूँ की इसका बहुत से नुक्सान हो सकता है जो आप सोच नहीं सकते है मेरा कहने का मतलब है की इसका भी कुछ Disadvantages है जो आपको जानना चाहिए तो आये जानते है।

  • सबसे पहला अगर आपका Mobile कहीं चोरी हो जाती है और कोई आपका ID Password जान जाता है तो ऐसे में आपका OTP का गलत फायदा ले सकता है।
  • अगर कोई सिर्फ ID जनता है तो आपका Password को Reset कर सकता है।
  • अगर आप Online Transaction करते है या फिर login करते है और आपके mobile में network नहीं है या फिर OTP का server Busy है तो ऐसे में OTP generate करने में परेशानी हो सकती है।
  • वैसे ओटीपी का बहुत कम Disadvantages है।
  • कम्युनिकेशन इंजीनियर क्या है कैसे बने

Conclusion

आज के आर्टिकल में मैंने आपको OTP  से संबंधित चीजों को बताया है इसमें मैंने आपको बताया कि OTP Kya Hai? और ओटीपी का इस्तेमाल क्यों करते हैं? ओटीपी के क्या-क्या फायदे हैं? OTP full form in Hindi इन चीजों के बारे में विस्तारपूर्वक मैंने आपसे जिक्र किया और आशा है आपको यह आर्टिकल पढ़कर ओटीपी से संबंधित अधिकतर जानकारी अवश्य मिल गई होगी।

अगर आपको हमारा आज का आर्टिकल पढ़कर अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अवश्य शेयर कीजिएगा और अगर आपके मन में इससे संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो आप हमें बेझिझक कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment